Home / Alwar Election / पुलिस महानिदेशक भूपेन्द्र सिंह का बहरोड़ फायरिंग मामले पर बयान, बोले- अपराधी कब तक पकड़े जाएंगे, अभी आश्वास्त नहीं कर सकते

पुलिस महानिदेशक भूपेन्द्र सिंह का बहरोड़ फायरिंग मामले पर बयान, बोले- अपराधी कब तक पकड़े जाएंगे, अभी आश्वास्त नहीं कर सकते

Behror Police Firing Case: अलवर जिले के बहरोड़ प़लिस थाने में फायरिंग के आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर डीजीपी भूपेन्द्र सिंह ने बयान दिया है।

अलवर. अलवर जिले के (Behror ) बहरोड़ थाने ( Firing In Behror ) में घुसकर ताबड़तोड़ फायरिंग करते हुए हवालात से कुख्यात अपराधी को ले जाने के मामले में पुलिस महानिदेशक ( DGP Bhupendra Singh ) बहरोड़ की घटना के दिन ही देर रात को अलवर आ गए थे। अगले दिन शनिवार शाम को उन्होंने अलवर पुलिस लाइन में पुलिस अधिकारी व कर्मचारियों से सम्पर्क सभा की। इससे पहले डीजीपी ने अलवर में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि यह सही है कि बहरोड़ पुलिस को शुरूआत में अपराधी पपला के बारे में पता होता तो रोजनामचे में 109 (संदिग्ध अवस्था में पकडऩा) नहीं लिखा जाता। उस समय तो स्थिति ही अलग बन जाती।

ये अपराधी किस गैंग के थे? किस फिराक में वे बहरोड़ आए? पुलिस थाने में उनके आने पर पुलिस व उनके बीच में क्या हुआ? क्या पुलिस अपराधियों से डर कर छुप गई। यह सब जांच का विषय है। फिलहाल तप्तीश चल रही है। उन्होंने कहा कि मेरा अलवर आना पहले से तय था। सभी सीमावर्ती जिलों में पुलिसिंग पर चर्चा होनी है। यह दुर्भाग्य है कि अलवर आने से पहले पहले बहरोड़ की घटना हो गई।

यह सही बहरोड़ संवेदनशील

डीजीपी ने माना कि अलवर का बहरोड़ क्षेत्र संवदेनशील है। किसी भी क्षेत्र को पुलिस अधीक्षक मुख्यालय बनाने के कई कारण होते हैं। सरकार ने सोच समझकर भिवाड़ी को मुख्यालय बनाने का निर्णय किया है। यहां अभी और अधिक साधन व नफरी की जरूरत है। मोबाइल टीम लगाई जाएंगी। अन्य प्रस्ताव विचाराधीन हैं। क्षेत्र की आवश्यकताएं अधिक हैं।

मुण्डावर पुलिस की लापरवाही रही

उन्होंने कहा कि इस मामले में पुलिस की कहीं भी लापरवाही रही है तो आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। हमेशा लापरवाही पर कार्रवाई होती भी है।

About admin

Check Also

माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा चलाए गए सेवा सप्ताह कार्यक्रम के तहत बहरोड स्टेडियम में पौधा रोपण

आज बहरोड में माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा चलाए गए सेवा सप्ताह कार्यक्रम के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »