Home / Rajasthan / सांसद सीपी जोशी ने कर्मचारी को मारा थप्पड़, VIDEO:5 हजार रुपए मांगने की बात पर भड़के, जवाब देते ही लगा दिया चांटा

सांसद सीपी जोशी ने कर्मचारी को मारा थप्पड़, VIDEO:5 हजार रुपए मांगने की बात पर भड़के, जवाब देते ही लगा दिया चांटा

चित्तौड़गढ़ सांसद के कर्मचारी को थप्पड़ मारने का वीडियो सामने आया है। इससे पहले जब किसानों ने अवैध वसूली की शिकायत की तो वे भड़क गए। वहां मौजूद कर्मचारी को पूछा तो उसने बता दिया कि 5 हजार रुपए लेते हैं। कर्मचारी आगे कुछ बोलता इससे पहले ही सांसद सीपी जोशी ने चांटा लगा दिया। मामला प्रतापगढ़ के अफीम जिला ऑफिस में मंगलवार शाम का है।

दरअसल, मंगलवार को प्रतापगढ़, चित्तौड़गढ़ जिले के आसपास में किसानों को अफीम लाइसेंस वितरित किए जा रहे हैं। लाइसेंस वितरण के दौरान किसानों से नामांतरण व लाइसेंस वितरण में अवैध वसूली की शिकायतें भी सामने आ रही है। इस पर चित्तौडगढ़़ सांसद सीपी जोशी मंगलवार शाम को प्रतापगढ़ खंड प्रथम कार्यालय में पहुंचे। यहां किसानों व मुखियाओं से अवैध वसूली की शिकायत पर सांसद सीपी जोशी ने नाराजगी जताई। इसके बाद उन्होंने अधिकारियों और कर्मचारियों को फटकारा।

सासंद ने वहां मौजूद कर्मचारी भंवर सिंह को बुलाकर पूछा कि एक पट्टे के कितने पैसे लेते हो। कर्मचारी ने जवाब देते हुए कहा एक पट्‌टे के 5000 रुपए लेते है। इससे आगे कुछ बोलता इससे पहले सांसद से जोरदार थप्पड़ जड़ दिया। इसके बाद घबराया कर्मचारी कुछ नहीं बोल पाया। इस दौरान किसी ने पूरे घटनाक्रम का वीडियो बना लिया। इस दौरान विभाग के अधिकारी और कर्मचारी भी वहां मौजूद थे।

नारकोटिक्स कार्यालय में अफीम के लाइसेंस व पट्टा वितरण करते अधिकारी-कर्मचारी।
नारकोटिक्स कार्यालय में अफीम के लाइसेंस व पट्टा वितरण करते अधिकारी-कर्मचारी।

किसानों का आरोप कर्मचारी मांग रहे हैं रुपए
किसानों ने बताया कि यहां रखे गए कर्मचारी की ओर से रुपए मांगे जा रहे हैं। वहां मौजूद किसानों ने 15 हजार और इससे ज्यादा भी रुपए लेने का आरोप लगाया। इस बात पर भड़क गए। यहां तक उन्होंने विभाग के अधिकारी और कर्मचारियों को भी चेतावनी दे डाली।

इधर, मामले का वीडियो सामने होने के बाद दैनिक भास्कर ने सांसद जोशी से बात करने का प्रयास किया। उनके पीए ने कॉल अटेंड किया, लेकिन बात नहीं करवाई।

कई दिनों से मिल रही थी शिकायत
इस संबंध में भाजपा के जिला अध्यक्ष गोपाल कुमावत ने बताया कि गत कई दिनों से विभाग में भ्रष्टाचार की शिकायतें मिल रही थी। इस पर सांसद सीपी जोशी मंगलवार शाम को विभागीय कार्यालय पहुंचे। जहां हकीकत सामने आई। इस पर वित्त मंत्रालय को इस संबंध में विभाग के खिलाफ कार्रवाई के लिए लिखा है।

वीडियो सामने आने के बाद सांसद से बातचीत का भी प्रयास किया गया। इधर, किसानों ने 15 हजार रुपए तक लेने का आरोप लगाया है।
वीडियो सामने आने के बाद सांसद से बातचीत का भी प्रयास किया गया। इधर, किसानों ने 15 हजार रुपए तक लेने का आरोप लगाया है।

ये हैं नामांतरण प्रक्रिया
नामांतरण प्रक्रिया के बारे में जब अफीम किसान विकास समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामनारायण जाट ने बताया कि नामांतरण प्रक्रिया परिवार के किसी सदस्य की मृत्यु होने पर उसके वारिस के नाम पर अफीम पट्टा जारी किया जाता है। जा सीपीएस नियम पद्धति के अनुसार ₹1000 से कम की राशि लेकर रसीद काटी जाती है। वीडियो में दिहाड़ी कार्मिक ₹5000 की बात कह रहा है। जो बिल्कुल गलत है। किसान लाखों रुपए लेने तक का आरोप अफीम विभाग के ऊपर लगा रहे हैं।

विभागीय आंकड़ों के मुताबिक 12 अक्टूबर से 5 नवंबर तक जिले के अंदर खंड प्रथम में चीरा पद्धति से 3404 व सीपीएस पद्धति से 766 किसानों को लाइसेंस जारी किए जाएंगे।

अफीम विकास समिति ने कहा, इसके पास तो 100 में से 10 पहुंचते हैं

वीडियो सामने आने के बाद अफीम किसान विकास समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामनारायण जाट ने कहा ये सभी किसानों से दबाकर रुपए ले रहे हैं। इस पूरे घटनाक्रम की सीबीआई जांच हो कर इनके खिलाफ सख्त से सख्त एक्शन लेना चाहिए। हमने कई बार समय-समय पर अफीम विभाग के अंदर तैनात अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ धरना प्रदर्शन कर ज्ञापन देकर उच्चाधिकारियों को अवगत कराया है। कोई ठोस कार्रवाई नहीं हुई है।

सांसद नारकोटिक्स विभाग को भी लगा चुके लताड़
अफीम विभाग में तैनात कर्मचारियों व अधिकारियों की मिलीभगत से किसानों की वसूली की शिकायतें जनप्रतिनिधियों को मिल रही थी। जिस पर सांसद जोशी भीलवाड़ा पहुंचकर नारकोटिक्स विभाग का निरीक्षण कर अधिकारी डीके सिंह व दो सब इंस्पेक्टर से बातचीत की तथा कहा कि किसानों को परेशान करना कागजी खानापूर्ति के नाम पर बार-बार घुमाना गलत है।

अधिकारियों को निर्देश दिए कि निर्देश देने के साथ ही कहा जो भी किसान ऑफिस आए उसके साथ अच्छा बर्ताव होना चाहिए उन्होंने अधिकारियों से कहा है कि किसान अन्नदाता है। अन्नदाता को परेशान करना और उनसे लाइसेंस के नाम पर पैसे मांगना गलत है। कर्मचारियों को चेतावनी देते हुए सांसद ने कहा उनसे लाइसेंस के नाम पर पैसा मांगना गलत है अपनी कार्यशैली नहीं बदली तो सबके कार्रवाई के लिए लेटर लिखा जाएगी।

About admin

Check Also

राजस्थान में कोरोना वायरस का चौंकाने वाला सामने आया है। यहां एक ही परिवार में सभी 5 सदस्य कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।

अजमेर। राजस्थान में कोरोना वायरस का चौंकाने वाला सामने आया है। यहां एक ही परिवार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »